MNP सुविधा जल्द हो सकती है बंद, अब ग्राहक नहीं बदल सकेंगे अपनी सिम की कंपनी

MNP सुविधा जल्द हो सकती है बंद, अब ग्राहक नहीं बदल सकेंगे अपनी सिम की कंपनी

टेलिकॉम कंपनियां जल्द ही MNP (मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी) सुविधा को बंद कर सकती है. इसके पीछे टेलिकॉम कंपनियों का तर्क है की इस स्कीम (मोबाइल नंबर पोर्ट...

अब मध्य प्रदेश के शहर इंदौर का नाम हो जायेगा इतिहास की बात
मौत की घंटी: बहुत खतरनाक होता है मोबाइल रेडिएशन, ऐसे करें इसके दुष्प्रभावों की जांच
मौसम विभाग पर एफआईआर, किसानों को गलत पूर्वानुमान देने का आरोप

टेलिकॉम कंपनियां जल्द ही MNP (मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी) सुविधा को बंद कर सकती है. इसके पीछे टेलिकॉम कंपनियों का तर्क है की इस स्कीम (मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी) की वजह से उन्हें काफी नुक्सान उठाना पड़ रहा है और इसके साथ ही कंपनियों का लाइसेंस भी खत्म हो रहा है. कंपनियों का कहना है की ट्राई ने पोर्टेबिलिटी के लिए दी जाने वाली फीस को काफी कम कर दिया है जिसकी वजह से उन्हें काफी नुकसान हो रहा है.

महज आठ हज़ार में कबाड़ी को बेच दी गई 10वीं उत्तर पुस्तिकाएं, जांच के बाद हुआ खुलासा

ज्ञात हो की मोबाइल नम्बर पोर्ट करने की सुविधा इंटरकनेक्शन टेलिकॉम सॉल्यूशन और सिनिवर्स टेक्नोलोजीस पोर्टेबिलिटी द्वारा दी जाती है. ट्राई ने कुछ समय पहले ही इन दोनों कंपनियों को MNP के लिए ली जाने वाली फीस को कम करने का आदेश दिया था, जिसकी वजह से कंपनियों को भारी नुक्सान उठाना पड़ रहा है. आपको बता दें की ट्राई ने मोबाइल नंबर को पोर्ट करने का शुल्क 19 रूपए से घटाकर मात्र 4 रूपए कर दिया था. ऐसे में जिन कंपनियों का 2019 में लाइसेंस खत्म हो रहा है उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है.

रिपोर्ट्स की मानें तो टेलिकॉम कंपनियों ने दूरसंचार विभाग को इस बाबत पत्र लिखकर अपनी इस मुश्किल के बारे में अवगत करवाया है. उनका कहना है की जनवरी 2018 में ट्राई ने पोर्टेबिलिटी की फीस को 80 फीसदी तक कम कर दिया है. जिसकी वजह से अब वो अपनी इस सेवा को मजबूरन बंद कर सकते हैं. अगर ऐसे में टेलिकॉम कंपनियां MNP की सुविधा को बंद कर देती है तो आम उपभोक्ताओं के लिए बहुत मुश्किल कड़ी हो जाएगी.