जम्मू-कश्मीर: सेना आई एक्शन के मूड में, ऑपरेशन ‘आल आउट’ के लिए सरकार ने दी फुल पावर

जम्मू-कश्मीर: सेना आई एक्शन के मूड में, ऑपरेशन ‘आल आउट’ के लिए सरकार ने दी फुल पावर

कहते हैं की ‘कुत्ते की पूंछ कभी सीधी नहीं हो सकती’ चाहे उसके लिए कितने भी प्रयास कर लिए जाएँ. सरकार ने रमजान को देखते हुए जम्मू-कश्मीर के शांतिप्रिय ल...

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ साल का सबसे बड़ा ऑपरेशन, 11 आतंकी ढ़ेर- एक ने किया आत्मसमर्पण
अक्षय कुमार की योजना ‘भारत के वीर’ ने गाड़े सफलता के झंडे, करोड़ों में पहुंचा सहयोग
…तो एक दिन POK होगा भारत में शामिल- केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री

कहते हैं की ‘कुत्ते की पूंछ कभी सीधी नहीं हो सकती’ चाहे उसके लिए कितने भी प्रयास कर लिए जाएँ. सरकार ने रमजान को देखते हुए जम्मू-कश्मीर के शांतिप्रिय लोगों के लिए रमजान महीने में शांति बरती और कोई कठोर कदम नहीं उठाया. इसके पीछे सरकार का मकसद था कि रमजान के पाक महीने में लोगों के लिए अनुकूल वातावरण हो और खून-खराबे का माहौल न रहे. लेकिन पिछले कुछ दिनों में आतंकियों ने जो घटिया हरकतें की है उससे साफ़ हो गया है की आतंकियों को प्रेम की भाषा समझ नहीं आती, उन्हें केवल गोली की भाषा में ही जवाब देना पड़ेगा.

इन राज्यों में छाया बाढ़ का कहर, अब तक 12 की मौत और चार लाख से अधिक हुए प्रभावित

सरकार ने अब एक बार फिर से जम्मू-कश्मीर में ऑपरेशन ऑल आउट को शुरू करने का ऐलान कर दिया है. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आतंकवादियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने के आदेश दे दिए हैं. उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंक और हिंसा से मुक्त वातावरण बनाने के लिए सरकार का प्रयास जारी रहेगा लेकिन आतंकियों को गोली की भाषा में ही जवाब दिया जायेगा. इसके लिए उन्होंने अब सुरक्षाबलों के हाथ पूरी तरह से खोल दिए हैं.

गौरतलब है की रमजान के दौरान केंद्र सरकार ने सीजफायर का फैसला लिया था लेकिन फिर भी पत्थरबाज और आतंकी अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आये. इन दिनों पाकिस्तान ने भी अपनी नापाक हरकतें जारी रखते हुए सीमापार गोलीबारी की. हाल ही में, आतंकियों ने एक वरिष्ठ पत्रकार शुजात बुखारी की गोली मार कर हत्या कर दी और एक सेना के जांबाज जवान औरंगजेब को किडनैप करके उन्हें भी मौत के घाट उतार दिया.