जिस रहस्य को 60 साल तक नहीं सुलझा पाए वैज्ञानिक भी, उसे सुलझा दिया बच्चों ने

अन्तरिक्ष के जिस रहस्य को लेकर वैज्ञानिक भी 60 साल तक उलझे रहे, आखिरकार वो रहस्य अब सुलझ ही गया. आप उस रहस्य को जानकार हैरान तो हो ही जाओगे लेकिन यह ज...

दुनिया का महान वैज्ञानिक जो टाइममशीन बनाना चाहता था, अगर सच हो जाता उनका सपना तो…..
अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए जाना होगा स्कूल, ट्रेनिंग की प्रक्रिया हुई ओर भी जटिल
जापान की राजकुमारी का दिल आया एक गरीब आदमी पर, राजसी ठाटबाट को छोड़कर रचा ली शादी

अन्तरिक्ष के जिस रहस्य को लेकर वैज्ञानिक भी 60 साल तक उलझे रहे, आखिरकार वो रहस्य अब सुलझ ही गया. आप उस रहस्य को जानकार हैरान तो हो ही जाओगे लेकिन यह जानकर की उस रहस्य को बच्चों ने सुलझाया है चकित रह जाओगे.

दरअसल धरती के विकिरण बेल्ट में कुछ ऊर्जावान और संभावित हानिकारक कणों के स्रोत की एक 60 साल पुरानी गुत्थी को जुते के बॉक्स के साइज़ वाले एक सैटेलाइट के डाटा के प्रयोग का अध्ययन करके सुलझा लिया गया है. यह प्रयोग छात्रों द्वारा बनाया गया है.

कोलोराडो यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर जिनलिन ली ने बताया कि ये परिणाम धरती के अन्दर के विकिरण बोल्ट में एनर्जेटिक इलेक्ट्रॉनों को दर्शाते है. अमेरिका के बोल्डर में उन्होंने इसके परिणामों की चर्चा करते हुए बताया की यह ख़ास रूप से अपने आंतरिक सिरे के पास के विस्फोट से पैदा हुई कास्मिक किरणों द्वारा बने है. धरती की इस विकिरण बेल्ट को ‘वैन एलन बेल्ट’ के रूप में भी जाना जाता है. यह एक ऐसी ऊर्जावान कणों की तह होती है जो सुदूर स्थित ग्रहों पर चुंबकीय क्षेत्र द्वारा संघटित होती हैं. प्रोफेसर जिनलिन ली ने इस गुत्थी के सुलझाने पर ख़ुशी जताते हुए कहा कि आखिरकार हमने उस 60 साल पुराने रहस्य को सुलझाने में कामयाबी प्राप्त कर ही ली.

COMMENTS