खतरनाक हुआ ‘तितली सायक्लोन’, रेड अलर्ट के बाद सरकार ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग

खतरनाक हुआ ‘तितली सायक्लोन’, रेड अलर्ट के बाद सरकार ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग

ओडिसा पर ‘तितली’ के भावी खतरे को देखते हुए सीएम नवीन पटनायक ने बुधवार को हाई लेवल मीटिंग बुलाई. मौसम विभाग ने बुधवार और गुरूवार को ओडिसा के कई स्थानों...

खतरनाक तितली तूफ़ान अगले 48 घंटे में मचा सकता है भारी तबाही- रेड अलर्ट, स्कूल-कॉलेज बंद
भारी बारिश- भू-स्खलन और बादल फटने की आशंका, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट
मौसम: अगले तीन दिनों तक दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई राज्यों में जबरदस्त बारिश के आसार

ओडिसा पर ‘तितली’ के भावी खतरे को देखते हुए सीएम नवीन पटनायक ने बुधवार को हाई लेवल मीटिंग बुलाई. मौसम विभाग ने बुधवार और गुरूवार को ओडिसा के कई स्थानों पर भारी बारिश के के आशंका को देखते हुए रेड अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफ़ान ‘तितली’ ओडिशा-आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्र की ओर तेज रफ़्तार से बढ़ रहा है. तूफान के 11 अक्टूबर को ओडिशा तट से गुजरने की आशंका है.तितली

इस तूफ़ान के कारण ओडिसा और आसपास के इलाकों में भारी बारिश की आशंका जताई जा रही है. मौसम विभाग द्वारा ओडिशा के गजपति, गंजम, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक और बालसोर जिलों को रेड अलर्ट पर रखा गया है. जबकि नयागढ़, कटक, जाजपुर, ढेंकानाल, खुर्दा, रायगढ़ और केंवझर के इलाकों में भी किसी प्रकार की आपदा की स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा गया है. सरकार ने राहत और बचाव दल को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए रेडी रहने को कहा है.तितली

मौसम विभाग ने कहा है कि 11 अक्टूबर को ‘तितली’ गोपालपुर और कलिंगपत्तनम के बीच ओडिशा-आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों से होकर गुजरेगा. तितली के संभावित खतरे को देखते हुए राज्य के सभी स्कूलों को बंद रखने का आदेश सरकार की ओर से दिया गया है. बंगाल की खाड़ी में बना साइक्लोन ‘तितली’ खतरनाक हो चला है और आशंका जताई गई है कि इसका असर आसपास के राज्यों में भी देखने को मिल सकता है.

COMMENTS