क्या आप जानते हैं: आपकी टूथपेस्ट में कितना है जहर, ट्यूब पर बना चौरस बॉक्स बताता है केमिकल की मात्रा

क्या आप जानते हैं: आपकी टूथपेस्ट में कितना है जहर, ट्यूब पर बना चौरस बॉक्स बताता है केमिकल की मात्रा

टूथपेस्ट आजकल हर घर में प्रयोग की जाने वाली चीज है जिसे हम रोजाना सुबह या शाम जरूर इस्तेमाल करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि टूथपेस्ट की ट्यूब पर ...

अबकी बार- पैट्रोल की मार, जा पहुंची 80 के पार
फर्जी था सपना के गाने पर क्रिस गेल का डांस वाला विडियो, ये है असली सच्चाई
नीलाम होंगे महेंद्र सिंह धोनी के दो फ़्लैट, करोड़ों का लोन है बकाया

टूथपेस्ट आजकल हर घर में प्रयोग की जाने वाली चीज है जिसे हम रोजाना सुबह या शाम जरूर इस्तेमाल करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि टूथपेस्ट की ट्यूब पर एक रंगीन चौकोर बॉक्स की पट्टी बनी होती है उसका क्या मतलब है? ये चौकोर बॉक्स के रूप में या एक पट्टी के रूप में हो सकता है जो लाल, काला, नीला या फिर हरे रंग का हो सकता है. दरअसल ये प्रकार का कोड होता है जिसे आईमार्क्स कहा जाता है. नियमों के मुताबिक पेस्ट बनाने वाली कंपनियों को अपने पेस्ट में इस्तेमाल किये जाने वाले केमिकल की मात्रा के अनुसार ये कोड्स लगाने अनिवार्य होते है. जो अलग-अलग रंग के चौकोर या पट्टी के रूप में लगाए जाते है.

पेस्ट की ट्यूब के निचले हिस्से पर बनी काले रंग की पट्टी का मतलब होता है पेस्ट में सबसे ज्यादा केमिकल का इस्तेमाल किया गया है. इस प्रकार की टूथपेस्ट के इस्तेमाल से बचना ही बेहतर होता है या फिर इस प्रकार की पेस्ट का कम से कम इस्तेमाल करें.

इसी प्रकार लाल रंग की पट्टी या चौकोर बॉक्स का मतलब भी केमिकल की मात्रा को दर्शाता है लेकिन यह काले रंग वाले बॉक्स से कुछ हद तक ठीक होता है. बताया जाता है कि इस प्रकार के निशान वाली पेस्ट में केमिकल के साथ-साथ प्राकृतिक पदार्थों का भी इस्तेमाल किया जाता है.

नीले रंग की पट्टी का पेस्ट आमतौर पर सुरक्षित माना जाता है. इसमें मेडिशन के सुरक्षित तत्व मौजूद होते हैं. इसमें मेडिशन के साथ-साथ प्राकृतिक पदार्थों का भी इस्तेमाल किया जाता है. इस प्रकार की पेस्ट का इस्तेमाल आमतौर पर दांतों की बिमारियों और मुंह की बीमारियों के लिए मददगार माना जा सकता है.

इसी प्रकार कुछ पेस्ट की ट्यूब पर हरे रंग का बॉक्स या पट्टी होती है जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक मानी जाती है. हरे रंग का मतलब है कि इस टूथपेस्ट में हर्बल या प्राकृतिक पदार्थों का इस्तेमाल किया गया है. ऐसी पेस्ट में केमिकल का इस्तेमाल ना के बराबर ही होता है. हालाँकि टूथपेस्ट की बजाये नीम या बबूल की दातुन ही पूर्णतया सुरक्षित मानी गई है. इनके इस्तेमाल से केवल फायदा ही होता है और इनमें केमिकल के इस्तेमाल जैसी कोई बात नहीं होती.