भारत-नेपाल बॉर्डर सील, इतने दिन तक रहेगा आवागमन पूर्णतया बंद, जानिये क्या है कारण

भारत-नेपाल बॉर्डर सील, इतने दिन तक रहेगा आवागमन पूर्णतया बंद, जानिये क्या है कारण

लोकसभा चुनाव 2019 का आगाज हो गया है. ऐसे में सरकार हर तरह से चौकस है और किसी भी तरह की असामाजिक तत्वों की घुसपैठ रोकने के मकसद से 84 किलोमीटर लंबी भार...

रोचक तथ्य: चुनाव हारने का रिकॉर्ड बना चुका है ये शख्स, खुद को कहता है ‘ऑल इंडिया इलेक्‍शन किंग’
राहुल गाँधी की बदजुबानी, पीएम मोदी के लिए कहे आपत्तिजनक शब्द- जानिए क्या कहा
क्लर्क की मामूली चूक- लिखना भुल गया ये दो शब्द, अब 42 साल बाद तीसरी पीढ़ी को मिला न्याय

लोकसभा चुनाव 2019 का आगाज हो गया है. ऐसे में सरकार हर तरह से चौकस है और किसी भी तरह की असामाजिक तत्वों की घुसपैठ रोकने के मकसद से 84 किलोमीटर लंबी भारत-नेपाल सीमा (Indo Nepal Border) मतदान से पहले तीन दिन तक के लिए सील कर दी जाएगी. महाराजगंज लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में 19 मई को मतदान होना है.Indo Nepal Border

इस बारे में जिलाधिकारी अमर नाथ उपाध्याय ने रविवार को मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि असामाजिक तत्वों के घुसपैठ कर मतदान प्रक्रिया बाधित करने की खबरों के परिप्रेक्ष्य में सीमा पर सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है. उन्होंने बताया कि सीमा सील करने का फैसला दोनों देशों के अधिकारियों की हाल की बैठक के दौरान किया गया.

उपाध्याय ने बताया कि मतदान से तीन दिन पहले ही भारत-नेपाल सीमा (Indo Nepal Border) को सील कर दिया जाएगा. लोगों की आवाजाही प्रतिबंधित हो जाएगी. सीमा पर कंप्यूटरीकृत कैमरे लगाए जाएंगे. सुरक्षाकर्मी चौबीसों घंटे निगरानी कर रहे हैं. आपको बता दें की भारत नेपाल बॉर्डर से रोजाना हज़ारों लोगों का आना-जाना होता है और इसके लिए किसी दस्तावेज की भी आवश्यकता नहीं होती. लिहाजा सरकार ने लोकसभा चुनावों को देखते हुए किसी भी तरह के अनधिकृत प्रवेश पर रोक लगाने हेतु ये कदम उठाया है.

COMMENTS

WORDPRESS: 2
  • comment-avatar
    Santosh Rani 6 days

    Yes badhiya Kiya sarkar ne. Koi risk nahi leni chahiye sarkar ko

  • comment-avatar

    Nyc post and good information

  • DISQUS: 0