बेटों ने करवा लिया था मुंडन, मौत के चार घंटों बाद अचानक अर्थी से उठ बैठी लाश

बेटों ने करवा लिया था मुंडन, मौत के चार घंटों बाद अचानक अर्थी से उठ बैठी लाश

मौत के बाद किसी इंसान के जिन्दा होने की कल्पना बेमानी सी लगती है. जो चले गए उनके लौट आने की बातें बस कपोल कल्पना ही होती है. लेकिन हाल ही में राजस्थान...

नाबालिग रेप मामला: उम्रकैद की सज़ा सुनते ही सिर पकड़कर रो पड़ा आसुमल, जानिए आसाराम की पूरी कहानी
ग्रुप-डी एग्जाम- 17 दिसंबर तक होने वाली परीक्षा का शेड्यूल जारी
शिवरात्रि विशेष: मुहूर्त को लेकर भ्रम में ना पड़ें- ये है व्रत, पूजा और मुहूर्त की जानकारी

मौत के बाद किसी इंसान के जिन्दा होने की कल्पना बेमानी सी लगती है. जो चले गए उनके लौट आने की बातें बस कपोल कल्पना ही होती है. लेकिन हाल ही में राजस्थान में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां एक व्यक्ति की कथित मौत के बाद परिजनों ने अंतिम संस्कार की पूरी तैयारी कर ली थी. लोगों ने मान लिया था, वह व्यक्ति अब दुनिया में नहीं रहा. लेकिन 4 घंटे बाद सब कुछ बदल गया.अर्थी

घटना राजस्थान के जिले झुंझुनू के खेतड़ी इलाके की है. यहाँ पास के गाँव बबाई की ढाणी भग्तावाला में एक 95 वर्षीय बुजुर्ग बुद्धराम गुर्जर की दोपहर करीब 1:30 बजे मौत हो गई. आसपास के सभी रिश्तेदारों को जानकारी दे दी गई. अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू कर दी गई. पिता की मौत के बाद मुखाग्नि देने के लिए बेटों ने सिर मुंडन करवा लिया.

लेकिन जैसे ही उन्हें रिवाजों के तहत नहाने के लिए ले गए, लोगों ने महसूस किया कि उनकी बॉडी में सांसें आ गई हैं. उन्हें खाट पर लिटाया गया. कुछ समय बाद ही वे अच्छी तरह बोलने लगे. परिजनों और रिश्तेदारों में खुशी की लहर दौर गई. लोग भगवान का चमत्कार मानकर पूजा पाठ करने लगे. बुद्धराम गुर्जर के बेटे बालूराम ने कहा कि हम लोग अंतिम संस्कार की तैयारी कर रहे थे, तभी अचानक से शरीर में हलचल हुई. जब हमने कान लगाकर धड़कन सुनी तो हल्की सी सांसें चल रही थी.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0