आ गई अभिनंदन की मेडिकल रिपोर्ट, फिर झूठा निकला पाकिस्तान, ये है असलियत

आ गई अभिनंदन की मेडिकल रिपोर्ट, फिर झूठा निकला पाकिस्तान, ये है असलियत

पाकिस्तान के कब्ज़े में दो दिन से भी अधिक समय रहकर विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान शुक्रवार को वतन लौट आये. ऐसे में हर किसी के जेहन में ये सवाल उठ रहा है क...

घर आया अपना विंग कमांडर अभिनंदन, स्वागत में दीवाने हुए लोग, देखिये तस्वीरें
विंग कमांडर अभिनंदन की तस्वीर फेसबुक से हटाने के निर्देश, चुनाव आयोग की सोशल मीडिया पर नज़र
फर्जी निकला अभिनंदन का ये विडियो, असलियत जानकर आप भी रह जाओगे हैरान

पाकिस्तान के कब्ज़े में दो दिन से भी अधिक समय रहकर विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान शुक्रवार को वतन लौट आये. ऐसे में हर किसी के जेहन में ये सवाल उठ रहा है की पाकिस्तान में उनके साथ कैसा बर्ताव किया गया? पाकिस्तान भले ही दावा कर रहा हो कि विंग कमांडर अभिनंदन के साथ हिरासत में अच्छा बर्ताव किया गया, लेकिन आप जानकार हैरान रह जाओगे की पाकिस्तान का ये दावा पूरी तरह गलत है. खुद विंग कमांडर अभिनंदन ने कहा है कि पाकिस्तानी सेना ने हिरासत के दौरान उनका काफी मानसिक उत्पीड़न किया.medical report of abhinandan

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आर्मी अस्पताल में चेकअप करा रहे अभिनंदन ने बताया है कि हिरासत के दौरान उनका शारीरिक उत्पीड़न नहीं किया गया था, लेकिन मानसिक तौर पर काफी प्रताड़ित किया गया. दिल्ली में अभी भी उन्हें 2 दिन तक और अस्पताल में डॉक्टरों की निगरानी में रखा जाएगा. माना जा रहा है कि विंग कमांडर अभिनंदन मंगलवार को अस्पताल से डिस्चार्ज हो सकते हैं.

रिपोर्ट के अनुसार अभिनंदन की पसली टूटी हुई है जो शायद विमान से जमीन पर गिरने के कारण टूटी हो सकती है या फिर हिंसक भीड़ द्वारा किये हमले में टूटी हो सकती है. अभिनंदन की आंख और चेहरे पर भी कुछ जख्मों के निशान हैं. अभिनंदन का MRI भी किया जा रहा है ताकि किसी गंभीर चोट का पता लगाया जा सके. माना जा रहा है की पीठ की चोट विमान से गिरने के कारण लगी हो सकती है. शनिवार को रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी आर्मी अस्पताल में विंग कमांडर अभिनंदन से मुलाकात की थी. रक्षा मंत्री ने पायलट से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली.medical report of abhinandan

PTI की एक रिपोर्ट के मुताबिक विंग कमांडर ने वायुसेना के अधिकारियों को बताया है कि पाकिस्तान की हिरासत में रहने के दौरान उन्हें शारीरिक तौर पर प्रताड़ित नहीं किया गया, लेकिन मानसिक तौर पर काफी प्रताड़ित किया गया. हालाँकि, अभी तक उन्हें कई अन्य जांच प्रक्रियाओं से भी गुजरना होगा. विंग कमांडर से लंबी पूछताछ की जाएगी और सिलसिलेवार पुरे घटनाक्रम की जानकारी ली जाएगी.

COMMENTS