मुर्गे के खिलाफ हुई शिकायत तो रोने लगी मालकिन, पुलिस वालों को दे बैठी ये ऑफर

मुर्गे के खिलाफ हुई शिकायत तो रोने लगी मालकिन, पुलिस वालों को दे बैठी ये ऑफर

मध्य प्रदेश के शिवपुरी में एक बेहद ही दिलचस्प मामला देखने को मिला है. यहाँ एक महिला एक मुर्गे के खिलाफ थाने में शिकायत कराने पहुंची. पुलिस ने भी मामले...

गजब न्यूज़: एक बड़े खानदान का तोता हो गया है गुम, ढूंढने वाले को मिलेगा इतना बड़ा ईनाम
अब गधे बेचकर पैसा जुटाएगा पाकिस्तान, ये देश है गधों का खरीददार
चाय वाली चाची: जो 33 साल से जिंदा है सिर्फ चाय पीकर, डॉक्टर्स भी है हैरान

मध्य प्रदेश के शिवपुरी में एक बेहद ही दिलचस्प मामला देखने को मिला है. यहाँ एक महिला एक मुर्गे के खिलाफ थाने में शिकायत कराने पहुंची. पुलिस ने भी मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए मुर्गे के मालिकों को थाने में बुला लिया. लेकिन मुर्गे की मालकिन थाने में आते ही पुलिस वालों से मिन्नत करने लगी की उसके मुर्गे को कुछ नहीं किया जाये बेशक उसे जेल में डाल दिया जाये.

दरअसल, मामला कुछ यूँ है की पूनम नाम की महिला पुलिस के पास शिकायत लेकर पहुंची की उसकी बेटी को एक मुर्गे ने चोंच मार दी. उसने आरोप लगाया की उसके पड़ोस में एक परिवार उस मुर्गे को पाल रहा है और उनका मुर्गा अक्सर लोगों को चोंच मारता रहता है.murge ki shikayat

पुलिस के अनुसार शिवपुरी शहर में मोतीबाबा मंदिर के पास रहने वालीं पूनम कुशवाह की शिकायत थी की मुर्गे ने उसकी बेटी पर हमला कर दिया और उसे चोंच मार दी. इसके बाद मुर्गे के साथ उसके मालिक को थाने बुलवाया गया. थाने में सजा की बात सुनकर मुर्गे की मालकिन लक्ष्मी जोर-जोर से रोने लगी. पुलिस से गुहार लगाने लगीं कि उसके मुर्गे के साथ कुछ न किया जाए, बेशक उसे जेल में डाल दिया जाए. लक्ष्मी ने बताया कि जब यह छोटा-सा था, तब वह पांच रुपए में खरीद कर लाई थी और तभी से उसे पाल रही है. लक्ष्मी के पति पप्पू जाटव ने कहा उनकी कोई औलाद नहीं है. उनकी पत्नी ने मुर्गे को बच्चे की तरह पाला है.

वहीँ, पीड़ित पक्ष का कहना था की मुर्गा उनकी बेटी को तीन बार काट चुका है. लेकिन अब बात बर्दाश्त से बाहर हो गई है तो मजबूरन हमें थाने में आना पड़ा. पुलिस ने दोनों पक्षों को समझाया. इसके बाद पूनम ने कहा कि मेरी बेटी को अब खरोंच तक नहीं आनी चाहिए. अब मैं बर्दाश्त नहीं करूंगी.

इसके बाद मुर्गे की मालकिन और उसके पति ने पीड़ित बच्ची की मां से माफी मांगी.भरोसा दिलाया कि अब वो अपने मुर्गे को बांधकर या पिंजरे में रखेंगे, ताकि वो फिर किसी को चोंच न मार पाए. वहीं, पुलिस अधिकारियों के समझाने के बाद पीड़ित बच्ची की मां भी मान गई और पुलिस ने मुर्गे के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया. इसके बाद मुर्गा अपने मालिक और मालकिन के साथ थाने से चला गया.

COMMENTS