NEET पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, विद्यार्थियों को होगा ये नुकसान

NEET पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, विद्यार्थियों को होगा ये नुकसान

देश की सुप्रीम कोर्ट ने मेडिकल शिक्षा में आवश्यक नेशनल एंट्रेंस कम एलिजिबिलिटी टेस्ट अर्थात नेट में कुछ विद्यार्थियों को ग्रेस मार्क्स देने के मद्रास ...

भारत बंद: हिंसक हुए दलित आन्दोलन की आग में झुलसे कई राज्य, अब तक 5 की मौत
सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर CJI पर लगाये गंभीर आरोप, मच गया हडकंप
बड़ी दूर की कौड़ी है केजरीवाल का माफ़ी अभियान, जानिए- क्या है इस अभियान का असली सच?

देश की सुप्रीम कोर्ट ने मेडिकल शिक्षा में आवश्यक नेशनल एंट्रेंस कम एलिजिबिलिटी टेस्ट अर्थात नेट में कुछ विद्यार्थियों को ग्रेस मार्क्स देने के मद्रास हाईकोर्ट द्वारा किये गये फैंसले पर रोक लगा दी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, सुप्रीम कोर्ट इस मामले की सुनवाई दो हफ्तों तक दौबारा करेगा और कोर्ट ने सभी विभागों के लिए नोटिस जारी करते हुए कहा की वे दो हफ्ते बाद इस मामले का समाधान लेकर हाजिर हों, ताकि नेट परीक्षार्थियों को इस तरह से नंबर न बांटे जा सकें.

आपकी जानकारी के लिए बता दें की हाल ही में मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच द्वारा फैंसला लिया गया था की जिन लोगों ने तमिल के माध्यम से परीक्षा दी है उनको लाभ देते हुए 196 अंक दिए जाएंगे. आपको जानकर आश्चर्य होगा की 49 प्रश्न गलत होने के साथ-साथ प्रत्येक प्रश्न चार नंबर का था. यही वजह रही है की इतना बड़ा फैंसला लेना पड़ा.

हाईकोर्ट ने सख्ती के साथ सीबीएसई को वापस नेट की रैंक जारी करने को कहा हैं. आदेश के बाद सीबीएसई को मात्र दो हफ्तों में रैंक जारी करने के साथ- साथ सभी मेडिकल काउंसलिंग भी रद्ध करनी होगी.

सीपीएम नेता रंगराजन ने याचिका दायर की उसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले के सभी संबंधित पक्षों से कहा की वे दो हफ्ते बाद इस मामले का समाधान लेकर उसके पास हाजिर हो, क्योंकि नेट के छात्रों को इस तरह से नंबर नहीं बांटे जा सकते है. ऐसा करने से जिन विद्यार्थियों ने तमिल भाषा में परीक्षा दी थी, उन्हें ग्रेस नंबर मिलने से दूसरे हकदार छात्र पीछे रहते जा रहे हैं.

नेट के परीक्षा परिणाम की बात करें तो बोर्ड ने दिनांक 5 जुलाई को परीक्षा परिणाम जारी किया था. जिसमें  कल्पना कुमारी ने 99.99% अंकों के साथ पहला स्थान प्राप्त किया था. आपको जानकर हैरानी होगी की उन्हें फिजिक्स में कुल 180 में से 171 नंबर, कैमेस्ट्री में कुल 180 में से 160 नंबर, बायोलॉजी में 360 में से 360 नंबर प्राप्त किये थे. उन्हें कुल 720 में से 691 नंबर मिले हैं. परीक्षा परिणाम में दूसरे स्थान पर तेलंगाना के रोहन पुरोहित हैं और दिल्ली के हिमांशु ने तीसरे स्थान पर कब्जा किया है.