नेपाल में हुई नोटबंदी, गैर क़ानूनी घोषित कर दिए गए भारत के ये नोट

नेपाल में हुई नोटबंदी, गैर क़ानूनी घोषित कर दिए गए भारत के ये नोट

जिस तरह से भारत में नोटबंदी हुई और सभी पुराने 500 और 1000 रूपए के नोट बंद हो गए थे वैसे ही अब भारत की नई करेंसी को नेपाल ने गैर क़ानूनी घोषित कर दिया ...

जिओ के नए ऑफर ने उड़ाई टेलिकॉम कंपनियों की नींद, 500 कैशबैक के साथ उतारा सबसे सस्ता प्लान
Independence Day 2018: पीएम मोदी दे सकते है देशवासियों को तोहफा, इन मुद्दों पर रहेगा फोकस
चूहों ने की एटीएम में सर्जिकल स्ट्राइक, कुतर दिए लाखों के नोट

जिस तरह से भारत में नोटबंदी हुई और सभी पुराने 500 और 1000 रूपए के नोट बंद हो गए थे वैसे ही अब भारत की नई करेंसी को नेपाल ने गैर क़ानूनी घोषित कर दिया है. नेपाल के इस आदेश के बाद शुक्रवार से भारतीय करेंसी के नए नोट जिनमें 2000, 500 और 200 रूपए के नए नोट प्रतिबंधित हो गए हैं. अब इस भारतीय मुद्रा को अपने साथ लेकर नेपाल जाना, अपने पास रखना और इन नोटों के बदले सामान देना गैरकानूनी होगा.

मोदी सरकार नोटबंदी के बाद उठा सकती है एक और बड़ा कदम, डिजिटल करेंसी लाने की तैयारी

नेपाल के संचार और सूचना मंत्री गोकुल प्रसाद बास्कोटा ने गुरुवार (13 दिसंबर) देर रात इसकी पुष्टि की है. नेपाल की कैबिनेट ने तत्काल प्रभाव से इस आदेश को लागू करने का आदेश दिया है. हालाँकि, नेपाल के इस फैसले का नेपाल के पर्यटन पर व्यापक असर पड़ेगा. एक तरफ तो इससे भारतीय पर्यटकों को भी इससे काफी असुविधा होगी वहीँ दूसरी तरफ इसका असर वहां के लोगों की कमाई, जो मुख्य रूपसे पर्यटकों पर ही निर्भर है पर पड़ेगा.

आपको बता दें कि, भारत में जारी हुए 200, 500 और 2000 के भारतीय नोटों को नेपाल सरकार ने मान्यता तो नहीं दी थी लेकिन अब तक उसने इसे गैरकानूनी भी घोषित नहीं किया था. नेपाल के बाजार में ये नोट चल रहे थे. लेकिन अब नेपाल सरकार ने नई भारतीय करेंसी को गैरकानूनी घोषित करते हुए, इनका प्रचलन पूरी तरह बंद कराने का फैसला किया है.

अगर आपके पास भी है 2000 रूपए का कटा-फटा नोट तो अभी जान लें, RBI ने बदल दिए हैं ये नियम

अब नेपाल घुमने की चाहत रखने वालों या बिज़नस के सिलसिले में नेपाल जाने वाले भारतीयों को नेपाल में इस्तेमाल के लिए 100-50 या अन्य छोटे नोट ले जाने होंगे या फिर उन्हें नेपाल बॉर्डर पर ही नए भारतीय नोटों को नेपाल की करेंसी से बदलना होगा. भारतीय मुद्रा नेपाल में आसानी से चलती थी. नेपाल सरकार का भी मानना है कि इसका प्रभाव नेपाल के पर्यटन उद्योग पर पड़ेगा, लेकिन देशहित में यह फैसला जरूरी था.

COMMENTS

WORDPRESS: 1
  • comment-avatar

    […] नेपाल में हुई नोटबंदी, गैर क़ानूनी घोष… […]