पूर्वोत्तर में ‘चलो पलटाई’ का जादू, बीजेपी का सफ़र सीधा शून्‍य से सत्ता के शिखर तक

पूर्वोत्तर में ‘चलो पलटाई’ का जादू, बीजेपी का सफ़र सीधा शून्‍य से सत्ता के शिखर तक

पूर्वोत्तर के तीनों राज्यों में आये चुनावी नतीजों से बीजेपी खेमे में ख़ुशी का माहौल है. तीनों ही राज्यों के ऐतिहासिक परिणामों ने एक बार फिर साबित कर दि...

पढ़ें: ढ़ाई दिन के सीएम येदियुरप्पा से कुर्सी की आँख मिचौनी और किस्मत का खेल
बीजेपी का विरोध हार्दिक पटेल को पड़ा महंगा, अब कांग्रेस दे सकती है बड़ा झटका
बीजेपी की सुप्रीम कोर्ट में याचिका, ‘दो बच्चे के क़ानून’ को लागू करने की मांग

पूर्वोत्तर के तीनों राज्यों में आये चुनावी नतीजों से बीजेपी खेमे में ख़ुशी का माहौल है. तीनों ही राज्यों के ऐतिहासिक परिणामों ने एक बार फिर साबित कर दिया कि मोदी-शाह की जोड़ी का कोई तोड़ नहीं है. जनता के बीच मोदी लहर अभी भी कायम है. इन परिणामों को लेकर बिहार की NDA और बीजेपी के नेताओं में जश्न का माहौल है. बीजेपी के नेताओं ने ख़ुशी का इजहार करते हुए कहा कि कांग्रेस मुक्त भारत के साथ-साथ देश के वामपंथ मुक्त होने की ओर कदम ‌‌‌बढ़ रहे है.

अगर त्रिपुरा की बात करें तो त्रिपुरा की राजनीति में बीजेपी ने इस कदम में सीधे शून्य से सत्ता तक का सफ़र तय किया है. यहाँ बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिला है. बीजेपी ने यहाँ ‘चलो पलटाई’ (चलो बदलाव करते हैं) का नारा दिया था जो कारगर रहा. पीएम मोदी की चुनावी अभियान में आक्रामकता और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की सधी हुई रणनीति ने यहाँ की राजनीती में एक इतिहास रचने का काम किया है.

इस ऐतिहासिक परिणाम को बीजेपी के नेताओं ने पीएम मोदी की ‘सबका साथ सबका विकास’ नीति का परिणाम बताया. इधर, जनता दल यूनाईटेड ने नार्थ ईस्ट के परिणामों पर ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा कि हम भविष्य में अपने महागठबंधन को ओर मजबूत करेंगे. पूर्वोत्तर के तीनों राज्यों में बीजेपी के शानदार परिणाम आने के बाद बीजेपी कार्यलय में जश्न शुरू हो गया. पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने एक दुसरे को गुलाल लगाकर बीजेपी की ऐतिहासिक जीत की बधाई दी.

COMMENTS