महज पौधा नहीं है तुलसी, अगर इस जगह लगाओगे तो खुल जायेंगे साक्षात कुबेर के भण्डार

महज पौधा नहीं है तुलसी, अगर इस जगह लगाओगे तो खुल जायेंगे साक्षात कुबेर के भण्डार

हज़ारों सालों से तुलसी का हमारे घरों में विशेष स्थान रहा है और अधिकांश हिन्दुओं के घरों में तुलसी को पूजा जाता है. तुलसी को सबसे पवित्र जड़ी-बूटी माना ज...

Samsung Galaxy Note 8 और s9 की सामने आई बड़ी खामी, लीक कर रहा प्राईवेट डाटा
इस्लामाबाद कोर्ट का बड़ा फैसला, जेल से रिहा होंगे पूर्व पीएम नवाज शरीफ और बेटी मरियम
राखी सावंत का महिला पहलवान को चैलेंज देना पड़ा भारी, रिंग में उठाकर पटका, हॉस्पिटल में भर्ती

हज़ारों सालों से तुलसी का हमारे घरों में विशेष स्थान रहा है और अधिकांश हिन्दुओं के घरों में तुलसी को पूजा जाता है. तुलसी को सबसे पवित्र जड़ी-बूटी माना जाता है और इसी वजह से इसे जड़ी-बूटियों की महारानी भी कहा जाता है. भारत ही नहीं अपितु विदेशों में भी तुलसी को एक पौधे के रूप में नहीं बल्कि एक देवी के रूप में विशिष्ट स्थान प्राप्त है.

तुलसी के पौधे के फायदे की बात करें तो इसके इतने फायदे है की सारे फायदों को महज एक लेख में लिख पाना असंभव है. आज के लेख में हम बात करेंगे वास्तु के अनुसार तुलसी के पौधे को किस दिशा में लगाना चाहिए ताकि हमें इसका भरपूर फायदा मिले.

वैसे तो तुलसी के पौधे को घर के किसी भी कोने में लगाये तो फायदा ही होता है लेकिन अगर इसे हम सही दिशा में लगायेंगे तो हमें भरपूर फायदा मिलता है. तुलसी के पौधे को लगाने की सही दिशा है उत्तर-पश्चिम.

घर में तुलसी लगाने से कभी बुरी आत्माओं का प्रवेश नहीं होगा. तुलसी के पौधे को घर की उत्तर या पूर्व दिशा में रखने या लगाने से घर के कई वास्तु-दोष दूर हो जाते हैं. घर में तुलसी का पौधा अच्छी किस्मत का प्रतीक है और इससे बिज़नस में फायदा मिलता है तरक्की के द्वार खुल जाते है.

इसके पत्तों को खाने से सेहत में भी जबरदस्त फायदा देखने को मिलता है. कहते हैं की तुलसी साक्षात लक्ष्मी का स्वरुप होती है जहाँ तुलसी विराजमान होती है वहां नारायण का वास निश्चित ही होता है.

तुलसी को हिन्दुओं के धार्मिक अनुष्ठानों, त्यौहारों और कई शुभ कार्यों में इस्तेमाल भी किया जाता है. सही दिशा में तुलसी के लगाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बढ़ता है और नित्य नियम पूर्वक इसकी पूजा अर्चना करने से परिवार में सुख संपदा और वैभव की कभी कमी नहीं आती.