सबसे बड़ी कार्रवाई से बाल-बाल बचा पाकिस्तान, सुधरने के लिए सिर्फ 90 दिन

सबसे बड़ी कार्रवाई से बाल-बाल बचा पाकिस्तान, सुधरने के लिए सिर्फ 90 दिन

आतंक के आका पाकिस्तान को जल्द ही वैश्विक स्तर पर बड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है. इससे पहले इस कार्रवाई के लिए शुक्रवार को बड़ी उम्मीद की जा रही ...

यूपी में मदरसों को इलाहाबाद हाईकोर्ट का झटका, गाना होगा राष्ट्रगान
Real Heart Touching# जिसने भी देखा रो पड़ा, पार्टी के लिए गरीब को धोखा देने की रुला देने वाली दास्ताँ
क्रिकेट प्रेमियों के लिए बुरी खबर: क्रिकेटर आशीष नेहरा की पत्नी अस्पताल में भर्ती, फैन्स कर रहे जल्द स्वस्थ होने की दुआ

आतंक के आका पाकिस्तान को जल्द ही वैश्विक स्तर पर बड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है. इससे पहले इस कार्रवाई के लिए शुक्रवार को बड़ी उम्मीद की जा रही थी, लेकिन पाकिस्तान बाल-बाल बच गया. FATF ने शुक्रवार को पाकिस्तान को सुधरने के लिए आखिरी मौका दिया. FATF ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर पाकिस्तान ने आतंकियों के खिलाफ जल्द ही कोई सख्त एक्शन नहीं लिया तो उसे (पाकिस्तान को) इसकी भारी कीमत चुकानी होगी.

FATF (फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स) ने शुक्रवार को फ्रांस की राजधानी पेरिस में अपनी एक बैठक के दौरान पाकिस्तान को कहा कि आतंक के खिलाफ वह कोई ठोस कदम उठाए नहीं तो उसके खिलाफ 90 दिनों के भीतर कार्रवाई होना तय है. विश्व के मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों पर नज़र रखने वाले FATF ने पाकिस्तान को आखिरी चेतावनी जारी करते हुए कहा कि अगर पाकिस्तान द्वारा कोई कठोर कदम आतंक के खिलाफ नहीं उठाया जाता है तो उसे इस कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा. हालाँकि शुक्रवार को फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स की बैठक में उम्मीद जताई जा रही थी कि पाकिस्तान के खिलाफ कोई बड़ा फैसला लिया जायेगा.

अगर FATF द्वारा पाकिस्तान पर कार्रवाई की जाती है तो पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था बुरी तरह से चरमरा जाएगी. FATF द्वारा पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में शामिल कर दिए जाने के बाद उसके वैश्विक निवेश पर संकट के बादल छा जायेंगे. इससे पहले फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स द्वारा ईराक, श्रीलंका, सर्बिया, टोबैगो और वानुअतु तथा यमन को ग्रे लिस्ट में शामिल किया जा चुका है. इस बैठक में ख़ास बात यह रही कि जब पाकिस्तान पर कार्रवाई की बात की गई तो उसके जिगरी दोस्त चीन और सऊदी अरब भी पाकिस्तान से कन्नी काटते नज़र आये और उन्होंने कार्रवाई के फैसले पर कोई विरोध नहीं किया.

COMMENTS