पीएचडी परीक्षा के 50 प्रश्न, सभी का उत्तर ऑप्शन A, सोच समझकर बनाया गया इस पेपर का पैटर्न

पीएचडी परीक्षा के 50 प्रश्न, सभी का उत्तर ऑप्शन A, सोच समझकर बनाया गया इस पेपर का पैटर्न

एग्जाम ब्रांच का कहना है की जिस उम्मीदवार ने परीक्षा की पूर्ण तैयारी की थी उसके लिए उत्तर किसी भी ऑप्शन में हो वह सही उत्तर का चुनाव कर सकता है. यह कद...

होली विशेष: कुछ चटपटे और मजेदार होली जोक्स
अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए जाना होगा स्कूल, ट्रेनिंग की प्रक्रिया हुई ओर भी जटिल
पैट्रोल- डीजल को जीएसटी के दायरे में लाना अभी दूर की कौड़ी, ये है प्रमुख वजह

एग्जाम ब्रांच का कहना है की जिस उम्मीदवार ने परीक्षा की पूर्ण तैयारी की थी उसके लिए उत्तर किसी भी ऑप्शन में हो वह सही उत्तर का चुनाव कर सकता है. यह कदम केवल उनके लिए उठाया गया है जो प्रश्नों के उत्तर अनुमानित ढंग से देते हैं. इस कदम के पश्चात अनुमान लगाने वालों की पहचान करना आसान हो जायेगा.

PhD

शायद आपको विश्वास नही होगा लेकिन ये सच है की अहमदाबाद में गुजराती भाषा में हुई एमफिल की परीक्षा में सभी पचास प्रश्नों के उत्तर केवल एक ही ऑप्शन में थे. अहमदाबाद में हुई पीएचडी की परीक्षा के उत्तर जानकर आप हैरान रह जायेंगे क्योंकि सभी प्रश्नों के सही जवाब केवल एक ही ऑप्शन ऑप्शन-सी में थे. इस बात का पता उस वक्त चला जब सोमवार को आंसर की पर नजर डाली गई.

पहले तो लगा की शायद किसी ने मजाक किया है लेकिन गुजराती भाषा के हेड ऑफ डिपार्टमेंट कृतिदा शाह ने स्पष्ट कर दिया की यह कोई मजाक नहीं हैं. पेपर का पैटर्न सोच-समझ कर ऐसा बनाया गया था. उम्मीद है की इस पैटर्न को केवल बेहतरीन विद्यार्थी ही समझ पाए होंगे. जानकारी देते हुए उन्होंने कहा की पीएचडी की परीक्षा में 77 तो वहीं एमफिल की परीक्षा में 37 विद्यार्थी शामिल थे. इसके अलावा मामले पर वाइस चांसलर हिमांशु वोरा का कथन है की मुझे इसमें कुछ भी अजीब नहीं लगता और मैं नहीं मानता की गुजराती विभाग को किसी भी तरह का स्पष्टीकरण देने की जरूरत है. रविवार को आए परीक्षा परिणामों में शामिल हुए विद्यार्थियों में मात्र 10 प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं.

PhD

एमफिल के परीक्षा परिणाम में 190 एमफिल सीटों के लिए 739 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी थी जिसमें मात्र 46 उम्मीदवार पास हुए थे. उन्होंने बताया की  हम यूजीसी मानदंडों के खिलाफ पास आउट प्रतिशत बढ़ाने के लिए ग्रेस मार्क नहीं दे सकते हैं. उनका कथन रहा की नौ छात्र हैं जिन्हें परीक्षा के लिए दी गई है इसलिए 55 विद्यार्थियों ने 190 सीटों के लिए क्वालीफाई किया है.

पीचएडी की सभी 600 सीटों के लिए 1881 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी जिसमें केवल 203 योग्य छात्र सफल हो पाए. एमफिल और पीएचडी दोनों की ही प्रवेश परीक्षाओं में सफलता पाने के लिए एक छात्र को कम से कम 50 फीसदी अंक प्राप्त करने अनिवार्य हैं. एमफिल परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले कुल 442 विद्यार्थी थे इसलिए इन्हें प्रवेश परीक्षा देने में छूट दी प्रदान की गई थी, इसलिए 600 सीटों के लिए 645 छात्र योग्य हो पाए. इन छात्रों को समूह चर्चा और वैयक्तिक साक्षात्कार के लिए भी बुलाया गया है.

COMMENTS

WORDPRESS: 1
  • comment-avatar

    […] पीएचडी परीक्षा के 50 प्रश्न, सभी का उत्त… […]

  • DISQUS: 0