पीएम मोदी का राहुल गाँधी को चैलेन्ज, 15 मिनट बिना कागज के बोल के दिखाएं

पीएम मोदी का राहुल गाँधी को चैलेन्ज, 15 मिनट बिना कागज के बोल के दिखाएं

कर्नाटक में 12 मई को विधानसभा चुनावों के लिए मतदान होने जा रहे हैं. अपनी तरफ से सभी राजनीतिक पार्टियां कमर कस कर मैदान में कूद चुकी है. इस चुनावी रण म...

राहुल के नामांकन में नहीं आई सोनिया गाँधी, ये है बड़ा कारण
बड़ी खबर: हरियाणा के मंत्री ने कहा- राहुल गाँधी संसद में नशा करके गए थे
मोदी जी की बेशकीमती ड्रेस की हकीकत आई सामने, आरटीआई में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

कर्नाटक में 12 मई को विधानसभा चुनावों के लिए मतदान होने जा रहे हैं. अपनी तरफ से सभी राजनीतिक पार्टियां कमर कस कर मैदान में कूद चुकी है. इस चुनावी रण में पीएम मोदी भी पहुँच गए हैं. चामराजनगर जनपद की जनसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा की इतनी भीड़ देखकर लग रहा है की कर्नाटक में बीजेपी की हवा नहीं आंधी चल रही है. उन्होंने कहा की वैसे तो दिल्ली में कर्नाटक चुनाव की खबरें आती रहती है लेकिन मैं अपनी पहली सभा में भीड़ देखकर कह सकता हूँ की यहाँ बीजेपी को आने से कोई नहीं रोक सकता.

प्रधानमंत्री अपने कर्नाटक दौरे में करीब 17 रैलियों को संबोधित करने वाले हैं. रैलियों को लेकर पार्टी ने विशेष रणनीति बनाई है. बीजेपी ने कर्नाटक में 150 से ज्यादा सीटों का टारगेट रखा है और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बार-बार 150 से ज्यादा सीटों के जीतने का दावा कर रहे हैं. आपको बता दें कि कर्नाटक में मई को विधानसभा चुनावों के लिए मतदान होने वाले हैं जिसके लिए सभी पार्टियाँ एड़ी-चोटी का जोर लगाये हुए हैं.

मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कांग्रेस और राहुल गाँधी पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि राहुल गाँधी की माताजी ने कहा था की हम 2009 तक देश के सभी घरों में बिजली पहुंचाएंगे, लेकिन आप चुप क्यों बैठे हैं? 28 अप्रैल को ऐतिहासिक दिन बताते हुए मोदी ने कहा की हमने 18 हजार गांवों तक बिजली पहुंचाई है, जिससे लोगों के जीवनस्तर में सुधार हुआ है. उन्होंने राहुल गांधी पर अति-उत्साह में मर्यादा तोड़ने का आरोप भी लगाया.

पीएम मोदी ने चुटकी लेते हुए कहा कि राहुल गांधी ने मुझे चुनौती दी थी कि, ‘वह जब संसद में बोलेंगे तो मैं 15 मिनट वहां बैठ नहीं पाउंगा.’ उन्होंने सही कहा था, “क्योंकि वो नामदारहैं और हम कामदारहैं और हम आपके सामने कैसे बैठ सकते हैं.” उन्होंने राहुल गाँधी को चुनौती देते हुए कहा कि, ‘राहुल किसी भी भाषा में 15 मिनट बिना कागज के बोलकर दिखाएं.’

COMMENTS