आलू खाने वाले हो जाएं सावधान, होते है इतने नुकसान

आलू खाने वाले हो जाएं सावधान, होते है इतने नुकसान

आलू को सब्जियों का राजा कहा जाता है. कहा भी क्यूँ ना जाये, ज्यादातर सब्जियों के साथ इसकी सब्जी बनाई जा सकती है. आलू को बच्चों का मनपसंद आहार माना जाता...

फेक न्यूज़ पर सख्त हुआ YouTube, पहली बार शुरु करने जा रहा है ये नई सर्विस, भारत से होगी शुरुआत
Twitter: बसपा सुप्रीमो मायावती ने बदला अपना नाम, जानिए अब किस नाम से है अकाउंट
लगातार सात दिन तक मोबाइल चलाती रही महिला, फिर हुआ जो आपको हैरान कर देगा

आलू को सब्जियों का राजा कहा जाता है. कहा भी क्यूँ ना जाये, ज्यादातर सब्जियों के साथ इसकी सब्जी बनाई जा सकती है. आलू को बच्चों का मनपसंद आहार माना जाता है. मेथी, फूलगोभी, पत्तागोभी, मटर, बैंगन जैसी ना जाने कितनी ऐसी अनगिनत सब्ज़ियां हैं जिनमें आलू डाला जाता है. अब बचपन से खाते आ रहे इस सब्ज़ी के बारे में अगर आपको मालूम पड़े कि ये आपके शरीर को नुकसान पहुंचा रही है! तो आपका क्या रिएक्शन होगा?Potato ke nuksan in Hindi

हर दिन किसी न किसी रूप में खाया जाने वाला आलू आपको नुकसान पहुंचाता है, ये जानकर आप एक बारगी तो यकीन ही नहीं करोगे लेकिन जब आप इस आर्टिकल को पढ़ोगे तो आप आज से ही आलू खाना कम कर दोगे. यहां हम आपको बता रहे हैं कि आखिरकार आलू कैसे आपके शरीर को नुकसान पहुंचा रहा है.

आलू हमारे शरीर का वजन बढ़ाने में अहम् भूमिका निभाता है. आप आलू को जितना तेल में डुबोकर खाएंगे ये आपको उतना ही मोटा करते जाएगा. जी हां, आलू में मौजूद भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट शरीर को फुलाता है. आलू में अच्छी मात्रा में फाइबर और विटामिन सी भी होता है, ये भी आपके शरीर को भारी बनाने में मदद करते हैं. इसीलिए वज़न घटाने वालों की डाइट में कार्बोहाइड्रेट फूड कम दिए जाते हैं, जिसमें सबसे पहला नंबर आलू का ही होता है.

गठिया के मरीजों को आलू खाने की सलाह नहीं दी जाती है क्योंकि आलू में मौजूद स्टार्च और कार्बोहाइड्रेट गठिया मरीज़ों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता. यह उनके वज़न को बढ़ाकर गठिया का दर्द और भी बढ़ा देता है. इसीलिए गठिया से पीड़ित व्यक्ति आलू को ना खाएं तो बेहतर है, और  अगर खाना ही है तो कम और बिना तेल वाला आलू खाएं. क्योंकि डीप फ्राइड और बेक्ड आलू ज़्यादा हानिकारक होते हैं. Potato ke nuksan in Hindi

आलू का ज्यादा मात्रा में और अधिक समय तक सेवन हमारे शरीर में ग्लूकोज़ की मात्रा को बढ़ा देता है. इस वजह से डायबिटीज़ के मरीज़ों के दिल पर ये जल्दी असर डालता है. क्योंकि आलू वज़न बढ़ाने का काम करता है इसीलिए डायबिटिक लोगों को यह कम खाना चाहिए. एक स्टडी के मुताबिक अगर कोई महिला ज़्यादा फ्रेंच फाइज़ और बेक्ड आलू का सेवन करती है तो बाकियों के मुकाबले टाइप 2 डायबिटीज़ (वज़न बढ़ाने वाला डायबिटीज़) होने का खतरा ज़्यादा रहता है.

एक रिसर्च के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति हफ्ते में चार या उससे ज़्यादा बेक्ड, उबले या मैश्ड आलू खाता है तो बाकियों के मुकाबले उसे निश्चित ही ज़्यादा हाई ब्लड प्रेशर होने का खतरा बना रहता है. इसीलिए इसका सेवन कंट्रोल में करें.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0