रहस्य रोमांच: पेट में पड़े बीज ने खोला 40 साल बाद हत्या का राज, फिर हुआ चौंका देने वाला खुलासा

रहस्य रोमांच: पेट में पड़े बीज ने खोला 40 साल बाद हत्या का राज, फिर हुआ चौंका देने वाला खुलासा

कभी- कभी कुछ मामले ऐसे होते हैं जिन्हें हल कर पाना आमतौर पर नामुमकिन सा लगता है लेकिन इस बात पर होती है कि ऐसे मामले कई साल बाद जब अचानक ही खुल जाते ह...

खबरों का गड़बड़झाला- पॉलिथीन पर बैन के बाद अख़बारों से बने लिफाफे, खबरें कुछ ऐसे जुड़ी
मोदी का बड़ा कमाल, अबू धाबी ऑयल फील्ड में खरीदी 10 फीसदी हिस्सेदारी, दुनिया में मची खलबली
रसगुल्ले खाने से स्वास्थ्य को मिलते हैं ये फायदे

कभी- कभी कुछ मामले ऐसे होते हैं जिन्हें हल कर पाना आमतौर पर नामुमकिन सा लगता है लेकिन इस बात पर होती है कि ऐसे मामले कई साल बाद जब अचानक ही खुल जाते हैं. ऐसा ही एक हैरान कर देने वाला वाकया हम आज आपको बताने जा रहे हैं जो आपको अजीब तो लग सकता है लेकिन है एकदम सच्चा. एक व्यक्ति का कत्ल कर दिया गया और उसकी डेड बॉडी से निकला पेड़, और उस पेड़ ने खोल दिया सारा रहस्य.रहस्य

Mirror की खबर के मुताबिक, 1974 में अहमेट हर्ग्यूनर (Ahmet Herguner) नाम के एक शख्स को ग्रीक और टर्किश संघर्ष के बीच मार दिया गया था. कई सालों तक उसकी डेड बॉडी नहीं मिली और उसका रहस्य नहीं सुलझ सका. लेकिन जहां उसकी मौत हुई थी वहां एक पेड़ उग आया और जब छानबीन की गई तब उसकी मौत का रहस्‍य दुनिया के सामने आ पाया.

यह घटना साइप्रस की है, खबरों के अनुसार हर्ग्यूनर और एक अन्‍य शख्‍स को संघर्ष के दौरान गुफा के अंदर डाइनामाइट से उड़ा दिया गया था. उस विस्फोट से गुफा में एक छेद बन गया. उस छेद से सूर्य की रोशनी उस अँधेरी गुफा में पहुँचने लगी और मिटटी में दबे हर्ग्यूनर की डेड बॉडी (पेट) में पड़े अंजीर के बीज को फलने-फूलने का मौका मिल गया. समय के साथ पेड़ बड़ा होता गया और देखते ही देखते वहां एक बड़ा सा अंजीर का पेड़ नज़र आने लगा.

साल 2011 में एक शोधकर्ता का ध्यान उस ओर गया तो वो उस पहाड़ी इलाके में अंजीर का पेड़ देखकर चौंक गया. शोधकर्ता इस बात से भी हैरान था की गुफा के अंदर से पेड़ कैसे निकल सकता है, वो भी इस पहाड़ी इलाके में? इस पर गहन रिसर्च की गई और खुदाई की गई तो वहां लाश के दबे होने की बात सामने आई.

पुलिस ने जब और खुदाई की तो कुल तीन लाशें बरामद की गईं. जांच के दौरान पता चला कि अहमेट हर्ग्यूनर और दो अन्‍य लोगों को गुफा के अंदर डायनामाइट से उड़ाया गया था. धमाके की वजह से गुफा में छेद हो गया. कहा जा रहा है कि मरने से पहले हर्ग्यूनर ने अंजीर खाया होगा.रहस्य

हर्ग्यूनर की बहन मुनूर हर्ग्यूनर ने मीडिया को बताया कि जहाँ हम पहले रहा करते थे उस गाँव की आबादी करीब चार हज़ार थी. इनमे से आधे लोग तो ग्रीक थे जबकि आधे लोग तुर्की थे. साल 1974 में हमारे इलाके में दंगे शुरू हो गए और मेरा भाई टर्किश रसिस्‍टेंट ऑर्गेनाइजेशन में शामिल हो गया था. ग्रीक लोगों ने मेरे भाई को उठा लिया. उसने कहा कि, ‘हमारे ब्‍लड सैंपल और लाश के डीएनए आपस में मैच हो गए और इसी वजह से हमें पता चल पाया कि हमारे भाई ने अपना आखिरी वक्‍त कहां गुजारा था. अंजीर के पेड़ की वजह से हमें हमारे भाई के बारे में पता चल पाया.’

बहरहाल, हम तो यही कहेंगे कि अहमेट हर्ग्यूनर की कहानी वाकई रहस्य से भरी और हैरान कर देने वाली है, जहां एक मृत शरीर ने पेड़ के रूप में जीवन लिया

COMMENTS

WORDPRESS: 1
  • comment-avatar

    […] कभी- कभी कुछ मामले ऐसे होते हैं जिन्हें हल कर पाना आमतौर पर नामुमकिन सा लगता है लेकिन इस बात पर होती है कि ऐसे मामले कई साल बाद जब अचानक ही खुल जाते ह…Read More […]