सुषमा जी, दस दिन बाद मेरी शादी है और मेरा पासपोर्ट खो गया, इंडिया कैसे आऊँ? प्लीज हेल्प मी

सुषमा जी, दस दिन बाद मेरी शादी है और मेरा पासपोर्ट खो गया, इंडिया कैसे आऊँ? प्लीज हेल्प मी

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज हमेशा से ही आम जन की मदद के लिए तैयार रहती है. देश ही नहीं बाहर से भी लोग उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत कराते हैं और मदद मांग...

ऐसी कंपनी जहाँ टारगेट पूरा ना होने पर दी जाती है ऐसी खौफनाक सजा, सुनकर ही रूह कांप उठेगी
अब कार या बाइक पर लगानी होगी हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट, वरना हो सकती है जेल
ऐसे बनाएं जौ का करामाती पानी, जो कर देगा सैंकड़ो बिमारियों को जड़ से खत्म

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज हमेशा से ही आम जन की मदद के लिए तैयार रहती है. देश ही नहीं बाहर से भी लोग उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत कराते हैं और मदद मांगते हैं और माननीया सुषमा जी भी यथासंभव उनकी मदद को सदा तैयार रहती हैं. ऐसा ही एक वाकया अभी हाल ही में हुआ जब एक अमेरिका में रह रहे भारतीय व्यक्ति ने विदेश मंत्री से मदद मांगी ताकि उसका तत्काल पासपोर्ट बने जाये.

दरअसल, रवि तेजा नाम के शख्स ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद मांगते हुए उनके ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘सुषमा स्वराज जी, मेरा पासपोर्ट वाशिंगटन डीसी अमेरिका में खो गया है. और मेरी शादी 13-15 अगस्त को है. मुझे 10 अगस्त को इंडिया आना है. कृपया मेरी तत्काल रिक्वेस्ट को सीरियसली लिया जाये और जल्दी से जल्दी मेरा पासपोर्ट फिर से जारी करवा दीजिये. मेरी शादी में समय पर पहुंचने के लिए मेरी मदद कीजिए.’ इतना ही  नहीं, रवि तेजा ने विदेश मंत्री से कहा कि वो ही उनकी आखिरी उम्मीद हैं. रवि ने लिखा, ‘आप मेरी आखिरी उम्मीद हैं. कृपया मेरी मदद कीजिए.’

अपने ट्विटर हैंडल के जरिए देशवासियों की मदद के लिए हमेशा आगे रहने वाली विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पहले तो रवि की खिंचाई की. उन्होंने कहा, ‘रवि तेजा – आपने अपना पासपोर्ट बहुत ही गलत समय में खो दिया. फिर भी हम आपकी मदद करेंगे, ताकि आप समय पर अपनी शादी में पहुंच सकें.’

इसके बाद सुषमा स्वराज ने अमेरिका में भारतीय दूतावास को टैक करके वहां के अधिकारी नवतेज से कहा कि इनकी मानवीय आधार पर मदद करें. थोड़ी ही देर बाद वाशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास ने रवि तेजा को एक ईमेल आईडी दिया और उस पर पासपोर्ट की डिटेल और तत्काल आवेदन का रिफरेंस नंबर मेल करने के लिए कहा. सुषमा की मदद के बाद रवि की ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा और उन्होंने विदेश मंत्री तथा भारतीय दूतावास को धन्यवाद दिया.

COMMENTS