तंत्र-मंत्र के चक्कर में लडकी ने की अंधविश्वास की हदें पार, डॉक्टरों की टीम भी रह गई दंग

तंत्र-मंत्र के चक्कर में लडकी ने की अंधविश्वास की हदें पार, डॉक्टरों की टीम भी रह गई दंग

हमारे समाज में तंत्र मंत्र को लेकर इतना अंध विश्वास फैला हुआ हैं जिनका अंजाम कई बार बहुत खौफनाक होता हैं. अभी कुछ दिन पहले बुराड़ी कांड ने देश को हिलाक...

दिल्ली से अम्बाला जाना था- स्टेशन से रवाना होते ही हथियारबंद लुटेरों ने लूट ली ट्रेन
चुनाव नतीजों से पहले ही लगी पैट्रोल-डीजल की कीमतों में आग, छुआ पांच साल का उच्चतम शिखर
आख़िरकार चीन ने ड़ोकलाम विवाद पर तोड़ी चुप्पी, कहा- कई दौर की बातचीत से निकला हल

हमारे समाज में तंत्र मंत्र को लेकर इतना अंध विश्वास फैला हुआ हैं जिनका अंजाम कई बार बहुत खौफनाक होता हैं. अभी कुछ दिन पहले बुराड़ी कांड ने देश को हिलाकर रख दिया था वहीं, छोटी-छोटी रोज होने वाली हम अपने आसपास की घटनाओं को रोजाना देखते हैं. अंधविश्वास को रोकने के लिए न तो सरकार कुछ कर रही है और जनता ने भी न सुधरने की कसम खा रखी हैं.

पश्चिम बंगाल से एक चौंकाने वाला सत्य सामने आया हैं. मामला ऐसा है की हर कोई हैरत में पड़ जाए. एक लडकी को हॉस्पिटल में ले जाया गया जब लडकी की समस्या का पता डॉक्टरों को चला तो उन्होंने हैरान होकर दांतों तले अंगुली दबा ली. लडकी के अनुसार उसके गले में कई सुईयां फंस गई थी. जिनको ऑपरेशन के जरिये निकाला गया. मात्र 14 वर्ष की इस लडकी के गले से कुल नौ सुई निकली, अस्पताल के वरिष्ठ अधिकारी ने इस समस्या पर प्रकाश डालते हुए बताया की डॉक्टरों की एक टीम को ऑपरेशन में तकरीबन तीन घंटे का समय लगा था.

अनुमान था की लडकी ने सुईयां निगल ली हैं लेकिन जब डॉक्टर ने जांच के पश्चात खुलासा हुआ तो हकीकत कुछ ओर निकली. एनआरएस के एक वरिष्ठ डॉक्टर के अनुसार, इस बात का बाद में पता चला की सुइयों को बाहर से गले के अंदर डाला गया था और शायद ऐसा तंत्र मंत्र की वजह से किया गया था.

COMMENTS