स्वस्थ रहने के शॉर्टकट टिप्स, जिनके पास समय की कमी है वो इन टिप्स को जरुर फॉलो करें

स्वस्थ रहने के शॉर्टकट टिप्स, जिनके पास समय की कमी है वो इन टिप्स को जरुर फॉलो करें

आज की भागदौड़ भरी जिन्दगी में हम निरंतर स्वास्थ्य को खोते जा रहे हैं. वर्तमान में स्वस्थ रहना तो हर कोई चाहता है लेकिन स्वस्थ कैसे रहें, इसे कोई ना तो ...

कैंसर के इलाज को लेकर वैज्ञानिकों की बड़ी सफलता, दो रूपये की इस चीज से कैंसर जड़ से खत्म
गुड़ खाने के फायदे जानकार आप इसे आज से ही खाना शुरू कर दोगे
बदलता मौसम लेकर आता है बिमारियों की सौगात, जानें इससे बचने के उपाय

आज की भागदौड़ भरी जिन्दगी में हम निरंतर स्वास्थ्य को खोते जा रहे हैं. वर्तमान में स्वस्थ रहना तो हर कोई चाहता है लेकिन स्वस्थ कैसे रहें, इसे कोई ना तो जानता है और ना ही जानना चाहता है. समयाभाव के कारण सभी चाहते हैं की कोई ऐसा फार्मूला हो जिसकी सहायता से हम कम मेहनत करके अपना स्वास्थ्य कायम रख सकें, तो आज हम आपके लिए यही फार्मूले लेकर आयें हैं जिनकी बदौलत आप स्वस्थ भी रहेंगे और इनके पालन से आपको अतिरिक्त लाभ भी मिलेगा.

स्नान करने से पहले एक गिलास सादा पानी यानी सामान्य तापमान का पानी पी लें और जरा सा नमक पानी में मिलकर नहायें, इससे आपको हाई बी.पी. की समस्या से निजात मिल जाएगी. जबकि लो बी.पी. में सेंधा नमक डालकर पानी पियें. इस फार्मूले को आप स्नान के अलावा रात को सोते समय भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

कफ़ की समस्या के निवारण हेतु गुड़ और शहद का प्रयोग करें. आपको बता दें की कफ़, शरीर में फास्फोरस की कमी होने से बिगड़ता है. फास्फोरस की पूर्ति हेतु आर्सेनिक की उपस्थिति जरुरी है. आप गुड़ और शहद को दूध के साथ इस्तेमाल करें तो नतीजे और भी बहुत अच्छे मिलेंगे. शरीर में कूबड़ निकलने की दिक्कत भी फास्फोरस की कमी से ही होती है. सोडियम की कमी से लकवा होता है जिसे पशुओं से प्राप्त भोज्य पदार्थो के द्वारा प्राप्त किया जा सकता है. दूध, दही, पनीर और दूध से ही प्राप्त किये जाने वाले मक्खन और चीज में भी सोडियम की मात्रा अधिक होती है. अत: सोडियम की कमी को दूर करने हेतु इनका उपयोग अवश्य करें.

सिजेरियन ऑपरेशन से बचने के लिए शरीर में कभी भी आयरन, कैल्शियम की कमी की कमी ना होने दें. जबकि सल्फर की कमी से अस्थमा नामक रोग हो जाता है. आजकल ताम्बे के बर्तन में पानी पीने का प्रचलन बढ़ रहा है और ये बहुत ही अच्छी बात है लेकिन ताम्बे के बर्तन का पानी प्रातः खड़े होकर नंगे पाँव पानी ना पियें. कुछ लोगों को प्रातः काल जूस पीने की आदत होती हैं वो उस में काला नमक व अदरक डालकर पियें तो जुकाम से राहत मिलती है.

कहा जाता है की रोगी के रोग की चिकित्सा करने वाले निकृष्ट, रोग के कारणों की चिकित्सा करने वाले औसत और रोग-मुक्त रखने वाले श्रेष्ठ चिकित्सक होते हैं.

इस पोस्ट को पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद और अगर यह पोस्ट पसंद आए तो लाइक और शेयर करना ना भूलें.

COMMENTS