युपी के जिन मदरसों में नहीं फहराया गया तिरंगा, उन पर गिरेगी गाज़

युपी के जिन मदरसों में नहीं फहराया गया तिरंगा, उन पर गिरेगी गाज़

राष्ट्रगान और तिरंगा फहराने का था योगी सरकार का आदेश

khabridada: योगी सरकार के आदेश के बाद यूपी के अधिकांश मदरसों में तिरंगा फहराया गया और राष्ट्रगान गाया गया और बाकायदा उसकी विडियोग्राफी भी की गयी. हाला...

इस साल का पहला चंद्रग्रहण 31 जनवरी को, जानिए आपकी राशी पर क्या रहेगा प्रभाव और कुछ सावधानियां
राहुल गाँधी की बदजुबानी, पीएम मोदी के लिए कहे आपत्तिजनक शब्द- जानिए क्या कहा
इस बार दो दिन मनाई जाएगी श्री कृष्ण जन्माष्टमी, जानिए कब है व्रत और पुजा का शुभ मुहूर्त

khabridada: योगी सरकार के आदेश के बाद यूपी के अधिकांश मदरसों में तिरंगा फहराया गया और राष्ट्रगान गाया गया और बाकायदा उसकी विडियोग्राफी भी की गयी.

हालांकि कुछ जगह से ख़बरें आ रही है की वहां सरकारी आदेश की अवहेलना की गयी है और आदेश के मुताबिक तिरंगा नहीं फहराया गया है. कुछ जगहों पर जन-गन-मन की जगह इकबाल का लिखा ‘सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्ताँ हमारा’ गाया गया.तिरंगा

आपको बता दें, बरेली के काजी मौलाना असजद रजा खान ने पहले ही कहा था कि राष्ट्रगान ‘गैरइस्लामी’ है, क्योंकि इसमें कुछ ऐसे शब्द हैं जो इस्लाम के अनुरूप नहीं हैं.
अब जहाँ से शिकायत मिली है वहां पूरी जांच की जाएगी और सरकारी आदेश ना मानने वाले मदरसों की खिलाफ सबूत मिलने पर कार्यवाही की जाएगी.
बरेली के पुलिस कमिश्नर ने कहा, “जहां राष्ट्रगान नहीं गाए जाने के सबूत मिले हैं, वहां मदरसों से जुड़े लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA- इसमें सरकार किसी भी व्यक्ति को बिना कारण बताये अरेस्ट कर सकती है व हिरासत में अनिश्चित अवधि तक रख सकती है) लगाया जाएगा”.

क्या था सरकार का आदेश: यूपी मदरसा शि‍क्षा परिषद ने 3 जुलाई को राज्य के सभी मदरसों को एक लेटर जारी किया था. उन्हें लिखा गया था कि 15 अगस्त को मदरसों में तिरंगा फहराया जाए और राष्ट्रगान भी गाया जाए.

हालांकि, ये मामला 11 जुलाई को सामने आया था. ये लेटर सभी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अफसरों को भेजा गया था. और लेटर में सभी मदरसा संचालकों को प्रोग्राम की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी कराने के भी निर्देश दिए गए थे.

लेटर में 15 अगस्त को स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों को श्रद्धांजलि दिए जाने के अलावा इस दिन के महत्व पर प्रकाश डालने, राष्ट्रीय गीतों के प्रोग्राम, शहीदों और स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के बारे में स्टूडेंट्स को जानकारी देने, कल्चरल और स्पोर्ट्स प्रोग्राम कराने की बात कही गई थी।

लेटर में सभी मदरसा संचालकों को प्रोग्राम की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी कराने के भी निर्देश दिए गए थे।

COMMENTS