एटीएम के साथ मिलती है इतनी सारी सुविधाएँ मुफ्त, लेकिन बैंक आपको कभी नहीं बताते

एटीएम के साथ मिलती है इतनी सारी सुविधाएँ मुफ्त, लेकिन बैंक आपको कभी नहीं बताते

एटीएम का इस्तेमाल आज के समय में सभी करते हैं.  हम आमतौर पर एटीएम का इस्तेमाल ऑनलाइन ट्रांजैक्शन या फिर कैश निकालने के लिए ही करते हैं. लेकिन वास्तव मे...

पहले की तोड़फोड़, अब खर्चा देने को तैयार हुए अखिलेश, कहा- लिस्ट भेज दो सारा खर्चा दे दूंगा
क्रिकेटर बुमराह से मिलने गए उनके दादा की हत्या, साबरमती नदी में मिला शव
Navratari 2018: जानिए कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त, आवश्यक सामग्री और सही तरीका

एटीएम का इस्तेमाल आज के समय में सभी करते हैं.  हम आमतौर पर एटीएम का इस्तेमाल ऑनलाइन ट्रांजैक्शन या फिर कैश निकालने के लिए ही करते हैं. लेकिन वास्तव में एटीएम का इस्लेमाल और भी कई प्रकार के कार्यों में भी किया जाता हैं. जैसे-atm card

बैंक की और से आपको ATM कार्ड पर फ्री में एक्सीडेंटल इन्श्योरेंस दिया जाता है. ये सच है की इन सुविधाओं के लिए आपको अलग से कोई चार्ज भी नहीं देना पड़ता हैं. प्रार्थना है की किसी के साथ किसी प्रकार की दुर्घटना न हो लेकिन यदि दुर्घटना हो जाती है तो आप बैंक से इन्श्योरेंस की रकम प्राप्त कर सकते हैं.

एटीएम के प्रयोग को लेकर हम केवल ऑनलाइन ट्रांजैक्शन अथवा कैश निकालने तक सीमित हैं. लेकिन, एटीएम से जुड़ी कई जानकारियां ऐसी हैं जिनकी जानकारी बैंक या एटीएम किट देने वाले एजेंट को है फिर भी ग्राहक तक नहीं पहुंचती हैं. हालांकि, मिलने वाली सुविधाएं और जानकारियां बेहद अहम भूमिका निभाती है. ग्राहक इस बात से अनजान है की इन सुविधाओं के लिए अलग से कोई चार्ज नहीं देना पड़ता. शायद ही आपको मालुम हो की प्राइवेट या गवर्नमेंट बैंक का एटीएम कार्ड यदि आपके पास है तो आपको फ्री में एक्सीडेंटल इन्श्योरेंस भी प्राप्त हैं. दुर्घटना होने पर आप संबंधित बैंक से इन्श्योरेंस की तहत मिलने वाली राशि प्राप्त कर सकते हैं. बहुत से ग्राहकों को इन नियमों की जानकारी नहीं है क्योंकि बैंक यह डिटेल आम लोगों के साथ सांझा नहीं करते हैं.atm card

सरकारी और प्राइवेट के चक्कर में न पड़ें क्योंकि सरकारी से लेकर प्राइवेट बैंकों तक सभी अपने ग्राहकों को एटीएम पर एक्सीडेंटल हॉस्पिटलाइजेशन कवर और एक्सीडेंटल डेथ कवर प्रदान करते है. इंश्योरेंस 50 हजार रुपये से 10 लाख रुपये तक का हो सकता हैं. इसका फायदा उन ग्राहकों को मिलता है जिसका बैंक अकाउंट ऑपरेशनल है.

यदि आपको भी लेना हैं एटीएम इंश्योरेंस क्लेम तो एटीएम धारक को 2 से लेकर 5 महीनों के अंदर क्लेम करना होगा. दुर्भाग्य से यदि किसी व्यक्ति की एक्सीडेंटल डेथ होती है तो उसके संबंधी को 2 से 5 महीनों के अंदर बैंक की उस ब्रांच में जाना अनिवार्य है जहां मृतक का अकाउंट है. वहां ब्रांच में मुआवजे के लिए एप्लीकेशन भी देना पड़ता हैं. मुआवजा देने के पहले बैंक क्रॉस चेक करता है. क्रॉस चेक से पता चलता है की मृतक व्यक्ति ने पिछले 60 दिनों में कोई वित्तीय लेनदेन किया है अथवा नहीं किया है. इस इन्श्योरेंस में विकलांगता से लेकर मौत होने तक पर मुआवजे का अलग-अलग प्रावधान है.

साधारण ATM CARD, मास्टरकार्ड ATM CARD, क्लासिक ATM CARD पर भिन्न-भिन्न मुआवजा राशि निर्धारित हैं. आप अपने बैंक में जाकर पता कर सकते हैं की आपके कार्ड पर कितने का बीमा है और कौन-सी श्रेणी के तहत वो आपको मिल सकता है. क्लेम के लिए कौन-सी संबंधित वस्तु आपको चाहिए.

एटीएम इन्श्योरेंस के लिए दुर्घटना होने पर प्राथमिक जानकारी पुलिस को देनी अनिवार्य हैं. पुलिस रिपोर्ट में एक्सीडेंट के सभी तथ्यों का जिक्र भी होना चाहिए. बता दें जिस व्यक्ति का एक्सीडेंट हुआ या मृतक से जुड़े सभी डॉक्युमेंट्स जरूरी हैं. संबंधित व्यक्ति अगर अस्पताल में है तो उसके मेडिकल डॉक्युमेंट भी अनिवार्य होंगे. इसके अलावा यदि किसी की मृत्यु हो जाती है तो मृतक व्यक्ति की पोस्टमार्टम रिपोर्ट, पुलिस रिपोर्ट, डेथ सर्टिफिकेट और ड्राइविंग लाइसेंस होने जरूरी हैं.

COMMENTS